Wednesday, 25 March 2015

Aankon ne aanko se kya kah diya


जी हाँ आँखों ने आँखों से क्या कह दिया - बस दिया , दिया और दिया । 
इस बार मैं कुछ अलग ही पोस्ट करने की सोचा रहा था । एक गीत जो हमेशा मेरे मन को भाता है , सोनू दा , और श्रेया जी के सुरेल आवाज मैं , " रब रक्खा " यह गीत है फिल्म लव ब्रेअकुप्स और ज़िन्दगी इस फिल्म से , ब्रेअकुप्स तोह किसी के जिंदगी मैं ना आये ।

इस गीत मैं दिया जी की हंसी मन को लुभाती है । और ऐसा लगता है के फिर से हम अपने हम नवा के साथ जुड़ जाये । प्यार से लेकर शादी तक का माहोल इस गीत मैं बहुत अच्छी तरह से मन को लुभाता है । 


रब रक्खा 
हर किसी को मिले अपना रांझना । आपका भी जिया धड़के बस देख के उसे । भारतीय संस्कृति मैं जिस तरीके से शादिया की जाती है वह पुरे विश्व मैं अपने आप मैं अलग विशेषता रखती  है । हमारे देश की शादिया सबसे ज्यादा समय टिकने वाली शादिया होती है । कही हम अपने आप को सिर्फ जिंदगी की रफ़्तार बढ़ा के इस सभ्यता को मिटा न दे । 

चलिए तो फिर मिलते है अगले पोस्ट तक , आप देखिये शेयर किया हुआ गीत , और मुज़े बताइये आपके विचार । 

छबि सौजन्य : विकिपीडिया 
वीडियो सौजन्य : youtube 

No comments:

Post a comment